कर्नाटक : येदियुरप्पा ने विधानसभा में बहुमत सिद्ध किया

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा

बेंगलुरु। कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास मत हासिल कर लिया है। इस के साथ ही अब राज्य की सत्ता पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी के हाथ में आ गयी है। काँग्रेस-जेडी(एस) की गठबन्धन सरकार गिरने के बाद सत्ता में आयी येदियुरप्पा सरकार को सोमवार को विश्वास मत हासिल करना था। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने पहले ही दावा किया था कि वह इस परीक्षा में भी ज़रूर सफल होंगे। सोमवार, 29 जुलाई 2019 को ध्वनिमत से उन्होंने इस विश्वास मत को जीत लिया।
इस से पहले कर्नाटक विधानसभा में बहुमत प्रस्ताव पेश करते हुए येदियुरप्पा ने कहा- प्रशासन विफल हो गया है और हम उसे सही करेंगे। मैं सदन को भरोसा दिलाता हूँ कि हम बदले की राजनीति नहीं करेंगे।
येदियुरप्पा के प्रस्वाव के विरोध में पूर्व मुख्यमन्त्री सिद्धारमैया ने कहा- हम आशा करते हैं कि बीएस येदियुरप्पा सीएम रहें लेकिन इस की कोई गारण्टी नहीं है। आप बागियों के साथ हैं और स्थिर सरकार चाहते हैं? मैं विश्वास प्रस्ताव का विरोध करता हूँ, यह सरकार असंवैधानिक और अनैतिक है।
किसानों के मुद्दे को उठाते हुए सीएम ने कहा- सूखा पड़ा है। मैं किसानों के मुद्दे पर बात करना चाहता हूँ। मैंने फैसला किया है कि 2000 रुपये की दो किश्तें पीएम किसान योजना के तहत लाभार्थियों को राज्य की तरफ से दी जायेंगी। मैं विपक्ष से अपील करता हूँ कि मिलकर काम करें। मैं सदन से अपील करता हूँ कि एकमत से मेरे लिए भरोसा दिखाएँ।
मुख्यमंत्री ने कर्नाटक विधानसभा में कहा- मैं भूलने और माफ करने में विश्वास रखता हूँ। मैं उन लोगों से भी प्यार करता हूँ जो मेरा विरोध करते हैं। मैं नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा को धन्यवाद देना चाहता हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *